• Friday, 18 Jan, 2019
  • 8:09:17 PM

पिता से 10 हजार रुपए उधार लेकर शुरू की थी कंपनी, अब हैं 'फार्मा किंग'

1955 में मुंबई में जन्मे दिलीप संघवी को घाटे में चल रही कंपनियों को खरीदकर उनकी काया पलटने के लिए जाना जाता है. दिलीप संघवी हमेशा कंपनी को सस्ते में खरीदने में विश्वास रखते हैं. कंपनी ने पहला सौदा 1987 में किया. लंबी सौदेबाजी के बाद अमेरिका की कैरको फार्मा दिलीप संघवी की पहली बड़ी खरीद थी. ये सौदा 5 करोड़ डॉलर में हुआ. इसके बाद दिलीप संघवी ने अमेरिका में ही दो और कंपनियों वैलिएंट और एबल फार्मा को खरीदा. घाटे में चल रही इन फार्मा कंपनियों की आज सन फार्मा की आमदनी में बड़ी हिस्सेदारी है.

Pharma News

फार्मासिस्ट-केमिस्ट लाइसेंस खेल : ड्रग कंट्रोलर आहूजा ने संभाला मोर्चा

फार्मासिस्ट-केमिस्ट लाइसेंस खेल : ड्रग कंट्रोलर आहूजा ने संभाला मोर्चा

हरियाणा में केमिस्ट-फार्मासिस्ट के बीच किराये के लाइसेंस का खेल राष्ट्रीय स्तर पर नजर में आ गया है। फार्मासिस्टों के राष्ट्रीय संगठन ड्रग अधकारियों पर गम्भीर आरोप जड़ रहे हैं। निचले अधिकारियों की लापरवाही है या नहीं, ये तो जांच की बात है, लेकिन विभाग की किरकिरी न हो, इसके लिए हरियाणा के ड्रग कंट्रोलर नरेंद्र आहूजा "विवेक" स्वयं निगरानी कर रहे हैं। बातचीत में वह इस बात से इनकार नहीं करते कि यह खेल नहीं चल रहा, मगर इसकी जड़ें कहाँ हैं, कौन सूत्रधार है, इसका पता कर शीघ्र खुलासा करने का दावा किया है।

Medical News

दक्षता फाउंडेशन ने आयोजित किया शिविर

दक्षता फाउंडेशन ने आयोजित किया शिविर

एस.जी.एम. नगर स्थित ज्ञान डीप पब्लिक स्कूल में दक्षता फाउंडेशन द्वारा निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया शिविर के आयोजन में फाउंडेशन में कार्ययत फार्मासिस्टों का रचनात्मक सहयोग रहा इस अवसर पर मुख्य अतिथि बीजेपी विधायिका सीमा त्रिखा रहीं व विशिष्ट अतिथि के रूप में सामाजिक कार्यकर्ता देव सिंग गोसाई, दत्ता ,श्रीकांत रहें।शिविर में एसोसिएट सदस्य समाजिक कार्यकर्ता मोनिका शर्मा व राजेश वशिष्ठ प्रेसिडेंट एस. एस. एफ रहें।

Editor Diary

SIGNIFICANCE OF I.P OVER U.S.P & B.P

SIGNIFICANCE OF I.P OVER U.S.P & B.P

The Indian Pharmacopoeia (IP) is published in fulfilment of the requirements of the Drugs and Cosmetics Act, 1940 and Rules thereunder. It prescribes the standards for drugs produced and/or marketed in India and thus contributes in the control and assurance of the quality of the medicines. The standards of this pharmacopoeia are authoritative and legally enforceable. It intends to help in the licensing of manufacturing, inspection and distribution of medicines.