BREAKING NEWS:
  • Friday, 22 Feb, 2019
  • 8:03:42 PM

आखिर कैसे लगाम लग पायेगी राष्ट्रीय राजधानी की अवैध पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं पर दिल्ली हाईकोर्ट ने किया जवाब तलब

नई दिल्ली
उच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय राजधानी में अवैध तरीके से चल रही पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं को लेकर दिल्ली सरकार को फटकार लगाई है। उच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को तलब कर 17 दिसंबर को अदालत में पेश होने के निर्देश दिए है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने पूछा है की दिल्ली सरकार ने ऐसी प्रयोगशालाओं पर अंकुश लगाने के लिए कारवाही क्यों नहीं की।
             उच्च न्यायालय ने सुनवाई के दौरान कहा की दिल्ली सरकार सर्वोच्च न्यायालय के आदेशो की पालना क्यों नहीं कर रहे। दिल्ली में करीब 130  प्रयोगशाला ऐसी है जिसके संचालको के पास अनुमति है। एक अनुमान के अनुसार दिल्ली में हज़ारो अवैध पैथोलॉजी प्रयोगशालाए धडल्ले से चल रही है। उच्च न्यायालय ने कहा है कि प्रयोगशालायो में जाँच के नाम पर रोगी की जान जोखिम में डाली जा रही है।
              न्यायालय ने इस पर भी एतराज जताया की दिल्ली सरकार ने खानापूर्ति के लिए एक पब्लिक नोटिस जारी कर इस प्रकार की प्रयोगशालायो पर अंकुश लगाने की औपचारिकता पूरी की। इस तरह की प्रयोगशालायो पर अंकुश लगाने के लिए अधिकारियों ने धरताल पर सच्चाई जाने का प्रयास तक नहीं किया। केंद्र सरकार की तरफ से वर्ष 2010 में एक्ट क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट एक्ट यूनियन टेरिटरीज लागु किया गया था।
               कई राज्यों में इसे लागु किया गया लकिन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इसे लागु करने की जगह एक नया बिल लाने की प्रक्रिया का सहारा लेने का प्रयास किया जा रहा है। सवाल यह है की अवैध रूप से चल रहे इन प्रयोगशालायो पर अंकुश कैसे लग पायेगा।  
 
 



Responses

Related News

वैज्ञानिको का आधुनिक आविष्कार अब फैट के टिश्यू से बन सकेंगे प्लेटलेट्स

वैज्ञानिको का आधुनिक आविष्कार अब फैट के टिश्यू से बन सकेंगे प्लेटलेट्स

जापान की कीयो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता यमिको मत्सुबरा के नेतृत्व किये गए अध्ययन में यह साबित हुआ है की एक स्टेम सेल लाइन बनाने में फैट टिश्यू का उपयोग किया जा सकता है। इससे महज 12 दिनो को प्रक्रिया में प्लेटलेट्स को तैयार किया जा सकता है। शोधकर्ताओं ने यह भी सत्यापित किया है की प्रयोगशाला में तैयार किये गए प्लेटलेट्स प्राकृतिक प्लेटलेट्स की तरह सतह पर प्रोटीन और ग्रेन्यूल पाए गए है। ग्रेन्यूल खून को ज़माने की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

दक्षता फाउंडेशन ने आयोजित किया शिविर

दक्षता फाउंडेशन ने आयोजित किया शिविर

एस.जी.एम. नगर स्थित ज्ञान डीप पब्लिक स्कूल में दक्षता फाउंडेशन द्वारा निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया शिविर के आयोजन में फाउंडेशन में कार्ययत फार्मासिस्टों का रचनात्मक सहयोग रहा इस अवसर पर मुख्य अतिथि बीजेपी विधायिका सीमा त्रिखा रहीं व विशिष्ट अतिथि के रूप में सामाजिक कार्यकर्ता देव सिंग गोसाई, दत्ता ,श्रीकांत रहें।शिविर में एसोसिएट सदस्य समाजिक कार्यकर्ता मोनिका शर्मा व राजेश वशिष्ठ प्रेसिडेंट एस. एस. एफ रहें।

अब भिवानी में होगा एड्स पीड़ितों का उपचार विश्व एड्स दिवस पर हुए शुरुवात

अब भिवानी में होगा एड्स पीड़ितों का उपचार विश्व एड्स दिवस पर हुए शुरुवात

एच आई वी एड़स के पॉजिटिव मरीजों को रोहतक जाने की बजाय अब चौ. बंसीलाल अस्पताल में इलाज मिलेगा। शनिवार को एच आई एंव एड़स निदेशक डा. वीना सिंह ने विधिवत एफ आई ए आर टीे सैटर उदघाटन किया। अब एडस के पॉजिटिव मरीजो को रोहतक जाने की जरुरत नही है। सोमवार से उन्हें सामान्य अस्पताल में इलाज शुरु हो जाएगा।

रोहतक पीजीआई पर हाई कोर्ट ने लगाया 3 लाख का जुर्माना

रोहतक पीजीआई पर हाई कोर्ट ने लगाया 3 लाख का जुर्माना

प्रदेश के एकमात्र स्वास्थ्य संस्थान पीजीआईएमएस,रोहतक पर हाईकोर्ट ने एमबीबीएस काउंसलिंग में अनियमितताओं के चलते 3 लाख का जुर्माना किया गया है ।कोर्ट ने यह जुर्माना 3 विद्यार्थियों की याचिका पर सुनवाई करते हुए लगाया है। विद्यार्थी एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा के बाद एडमिशन के लिए पीजीआई पहुंचे थे। काउंसलिंग के दौरान अनियमितताएं को देखते हुए छात्रों ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। जिसमें कोर्ट ने पीजीआई पर 3 लाख का जुर्माना किया है। बता दे बीते कुछ माह पहले काउंसलिंग में बहादुरगढ़ से आई छात्रा ने धांधली का आरोप लगाया था।