BREAKING NEWS:
  • Friday, 22 Feb, 2019
  • 8:23:08 PM

इंडिया फार्मा 2019 में खुला राज- फार्मास्युटिकल क्षेत्र को 3 लाख करोड़ का बाजार बनाने में जुटा रसायन मंत्रालय

केन्‍द्रीय रसायन और उर्वरक, सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्री, डीवी सदानंद गौड़ा ने कहा कि भारत उच्च गुणवत्ता वाली जन औषधियों के विनिर्माण में शीर्ष स्‍थान पर बरकरार है। सरकार का ध्यान सभी के लिए सस्‍ती स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच में सुधार लाने पर केंद्रित है। सरकार दुनिया में सबसे बड़े सरकारी वित्त पोषित स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम ‘आयुष्‍मान भारत’ में ...

फार्मासिस्ट-केमिस्ट लाइसेंस खेल : ड्रग कंट्रोलर आहूजा ने संभाला मोर्चा

हरियाणा में केमिस्ट-फार्मासिस्ट के बीच किराये के लाइसेंस का खेल राष्ट्रीय स्तर पर नजर में आ गया है। फार्मासिस्टों के राष्ट्रीय संगठन ड्रग अधकारियों पर गम्भीर आरोप जड़ रहे हैं। निचले अधिकारियों की लापरवाही है या नहीं, ये तो जांच की बात है, लेकिन विभाग की किरकिरी न हो, इसके लिए हरियाणा के ड्रग कंट्रोलर नरेंद्र आहूजा "विवेक" स्वयं निगरानी कर रहे हैं। बातचीत में ...

पंजीकरण एक कारोबार दो आम लोगो कि सेहत से खिलवाड़ क्यों.??? मौन क्यों है औषधि नियंत्रण विभाग

सरकार भले ही पारदर्शिता का राग अलापती हो, लेकिन पर्दे के पीछे जो हो रहा है वह तस्वीर भयावह है। ड्रग एंड कास्मेटिक एक्ट-1940 रूल 1945 और फार्मेसी एक्ट 1948 सेक्शन 42 के अनुसार फार्मासिस्ट ही दवा का वितरण कर सकता है, उसकी अनुपस्थिति में यह कार्य किसी भी तरह संभव नहीं है। लेकिन स्थिति यह बनी हुई है कि फार्मासिस्ट के एक पंजीकरण पर एक से अधिक लाइसेंस चल रहे हैं।...

180 देशों में भारत के दवा बाजार की ताकत का राज खोल गए चेयरमैन दुआ

भारत के दवा उत्पाद की गुणवत्ता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की यहाँ की दवाईया विश्व के 180 देशो में एक्सपोर्ट की जाती है। इतना ही नहीं भारत अपने दवा व्यापार का करीब 30 प्रतिशत शेयर अमेरिका में निर्यात करता है । यह बात भारत सरकार कि फार्मास्यूटिकल एक्सपोर्ट्स प्रमोशन कौंसिल के चेयरमैन डॉ. दिनेश दुआ ने एमिटी यूनिवर्सिटी में आयोजित 70वी अंतरराष्ट्रीय दवा ...

रसायन मंत्री का इशारा : ऑनलाइन दवा बिक्री के नियम बदलेंगे

केन्द्रीय रसायन एव उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख एल.मंडाविया ने हाल ही में लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि दवाओं की ऑनलाइन बिक्री के लिए पृथक दिशा-निर्देश के संबंध में कहा कि औषधि और प्रसाधन नियम, 1945 में औषधियों की बिक्री, भंडारण और विपणन के प्रावधान है। मंडाविया ने कहा कि स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने ई-फॉरमेसी के माध्यम से दवाओं की बि...

दवा कंपनियों की स्पेन बैठक का हैरान करने वाला सच

कुछ माह पहले स्पेन में शुगर की दवा बेचने वाली प्रमुख कपनियों की एक बैठक हुई थी जिसमें दवाओं की बिक्री बढ़ाने के लिए सुझाव दिया गया कि अगर शरीर में सामान्य शुगर का मानक 120 से कम कर 100 कर दिया जाए तो शुगर की दवाओं की बिक्री 40 प्रतिशत बढ़ेगी। बता दें कि पहले शरीर में सामान्य शुगर का मानक 160 था जो कि दवाओं की बिक्री के लिए इसे कम करते करते 120 तक लाया गया, ...

सुगम पोर्टल में सुधार के लिए मांगे सुझाव

केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन ने वेब पोर्टल को उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक अनुकूल बनाने के लिए निर्माताओं, आयातकों, अनुसंधान और विकास संस्थानों से इस बारे में प्रतिक्रिया मांगी है। ताकि वेब पोर्टल में और अधिक सुधार कर उपयोगकर्ताओं को इसका लाभ मिल सके। पोर्टल का प्रयोग करने वालो को यदि कोई तकनिकी समस्या सामने आयी है तो इसके बारे में वो अपने विचार साँझा कर सक...

कुछ ही दिन में बदलेंगे ई-फार्मा के नियम: डीसीजीआई का निर्णय

ऑनलाइन दवा बेचने वाली कंपनियों पर केंद्र सरकार द्वारा शिकंजा कसे जाने की तैयारी है। संभवतः इस साल के अंत तक इसके लिए केंद्र सरकार नियम तय कर सकती है। भारत के ड्रग्स कंट्रोलर जनरल एस एस्वावा रेड्डी ने बताया कि इसका उद्देश्य देश भर में ऑनलाइन बिक्री को विनियमित करना है। इसके साथ यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि रोगियों को विश्वसनीय पोर्टल से सही दवाई उपलब्ध हो सक...

एक साल में फार्मा सेक्टर में 919 करोड़ के उछाल का दावा कर गए मंडविया

केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री मनसुख मंडविया ने दावा किया कि फार्मा सेक्टर पर सेवा और वस्तु कर (जीएसटी) का प्रभाव मोटे तौर पर सकारात्मक और रचनात्मक रहा है। रसायन और उर्वरक मंत्रालय ने सभी नागरिकों के लिए सस्ती और गुणवत्ता युक्त दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए जो कदम कदम उठाए हैं, उनके दूरगामी परिणाम होंगे।

युवा पीढ़ी नशे की गर्त में प्रदेश सरकार लाएगी नशीली दवाओं पर अंकुश लगाने के लिए बिल

हिमाचल प्रदेश सरकार ने नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए विधेयक लाने का निर्णय लिया है। प्रदेश में नशीली दवाओं के चलते युवा पीढ़ी नशे की गर्त में जा रही है। प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में निर्णय लिया गया है कि नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सबस्टांस(हिमाचल प्रदेश संशोधन विधेयक),2018 लाया जाएगा ताकि नशीली दवाओं के व्यापार पर अंकुश लगाया जा सके।