• Tuesday, 22 May, 2018
  • 1:17:31 PM

Pharmaceutical companies urges to notify new prices of medicines after GST

Pharmaceutical companies urges to notify new prices of medicines after GST. Watch complete news story of News @ 7:00 PM for getting the detailed news updates! Zee Business is one of the leading and fastest growing Hindi business news channels in India. The channel has revolutionized business news by its innovative programming and path-breaking strategy of making business news a 24/7 activity as it is not just limited to the stock market. This has made Zee Business your channel to wealth and profit.

Besides updated hourly news bulletins, there is a lot to watch out for, whether it be stock market related detailed information, investments, mutual funds, corporate, real estate, travel or leisure. The channel has the most diverse programming portfolio which has positioned it as a channel of choice amongst viewers. By speaking a language of the masses, Zee Business is today the most preferred for business news.

Responses

Related News

सूरत-ए-हाल चौ. बंसीलाल सामान्य अस्पताल नासाज है  साल बीतने को नहीं हो पा रही ठेका कर्मचारियों की संख्या की पुष्ठि आखिर कहां छुपा है राज, कौन है इसका जिम्मेवार

सूरत-ए-हाल चौ. बंसीलाल सामान्य अस्पताल नासाज है साल बीतने को नहीं हो पा रही ठेका कर्मचारियों की संख्या की पुष्ठि आखिर कहां छुपा है राज, कौन है इसका जिम्मेवार

आज-कल-आज करते करते पूरा साल बीत गया, लेकिन चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल में पिछले एक साल से ठेका कर्मचारियों की संख्या को लेकर जो चर्चाएं थी उनकी पुष्टि नहीं हो पाई। साल भर के लिए ठेका कर्मचारियों को रखने का अनुबंध ३० मई को समाप्त हो जाएगा। गत वर्ष एक जून से ठेकेदार द्वारा १७८ कर्मचारी ठेका आधार पर अस्पताल में तैनात किए गए थे।

डॉ. मार्कण्डेय के जीवन में नए रंग लेकर आई होली

डॉ. मार्कण्डेय के जीवन में नए रंग लेकर आई होली

मस्तनाथ यूनिवर्सिटी को नए आयाम देने वाले डॉ. आहूजा ने जाने-माने नेत्र रोग विशेषज्ञ के तौर हासिल की प्रसिद्धि दो लाख से ज्यादा आंखों के ऑपरेशन और तीस लाख से ज्यादा ओपीडी कर चुके श्रीबाबा मस्तनाथ यूनिवर्सिटी रोहतक के संस्थापक कुलपति डॉ. मारकंडेय आहूजा गुरुग्राम स्टेट यूनिवर्सिटी के प्रथम कुलपति नियुक्त हुए हैं। मस्तनाथ यूनिवर्सिटी रायपुर के कुलपति रह चुके डॉ. आहूजा 84 बार रक्तदान भी कर चुके हैं। अभी पिछले दिनों खानपुर मेडिकल कॉलेज में प्राचीन और आधुनिक समय के बीच भारत में मेडिकल साइंस को लेकर हुए बदलावों पर आयोजित सेमिनार में डॉ. आहूजा के वक्तव्य की खूब प्रशंसा हुई थी। यह लेखक खुद ओपीडी के दौरान डॉ. आहूजा के साथ उनकी चिक्त्सिा यात्रा का साक्षी रहा है। मरीज की आंखें देखते ही उसकी बीमारी पकडऩे की कला उनके अनुभव को सार्थक करती है।