BREAKING NEWS:
  • Sunday, 16 Dec, 2018
  • 12:02:08 AM

1103 करोड़ में बनेगा नया एम्स, पीएम मोदी की लगी मुहर

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने झारखंड के देवघर में नया अखिल भारतीय  आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) स्थापित करने की मंजूरी दे दी है। परियोजना के लिए 1103 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है और यह एम्स प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (पीएमएसएसवाई) के अंतर्गत स्थापित किया जाएगा। एम्स देवघर मेः 750 बिस्तरों का अस्पताल और ट्रामा सेंटर सुविधाएं होंगी।प्रतिवर्ष 100 एमबीबीएम विद्यार्थियों के नामांकन के साथ मेडिकल कॉलेज होगा।प्रतिवर्ष 60 बीएसई (नर्सिंग) विद्यार्थियों के नामांकन के साथ नर्सिंग कॉलेज, आवासीय परिसर तथा एम्स नई दिल्ली की तरह संबंधित सुविधाएं और सेवाएं होंगी।15 ऑपरेशन थिएटरों सहित 20 स्पेशिऐलिटी/ सुपर स्पेशिऐलिटी विभाग होंगे।परम्परागत चिकित्सा पद्धति के अंतर्गत ईलाज की सुविधाएं देने के लिए 30 बिस्तरों के साथ आयुष विभाग होगा।
 
प्रभावः देवघर में नए एम्स की स्थापना से स्थानीय आबादी को सुपर स्पेशिऐलिटी स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के साथ-साथ डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों का बड़ा पूल बनाया जा सकेगा, जिससे डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) द्वारा बनाए जा रहे प्राथमिक और द्वितीय स्तर के संस्थानों को उपलब्ध होंगे। पीएमएसएसवाई के अंतर्गत भुवनेश्वर, भोपाल, रायपुर, जोधपुर, ऋषिकेश और पटना में एम्स स्थापित किए गए हैं। रायबरेली (उत्तर प्रदेश), नागपुर (महाराष्ट्र), कल्याणी (पश्चिम बंगाल) और गुंटुर में मंगलागिरी, (आंध्र प्रदेश) में एम्स का कार्य प्रगति पर है। एम्स गोरखपुर के लिए निर्माण कार्य का ठेका दे दिया गया है।
 
निम्नलिखित एम्स की स्वीकृति दी गई हैः
बठिंडा, (पंजाब) जुलाई, 2016गुवाहाटी, (असम), मई 2017बिलासपुर, (हिमाचल प्रदेश), जनवरी, 2018



Responses

Related News

वैज्ञानिको का आधुनिक आविष्कार अब फैट के टिश्यू से बन सकेंगे प्लेटलेट्स

वैज्ञानिको का आधुनिक आविष्कार अब फैट के टिश्यू से बन सकेंगे प्लेटलेट्स

जापान की कीयो यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता यमिको मत्सुबरा के नेतृत्व किये गए अध्ययन में यह साबित हुआ है की एक स्टेम सेल लाइन बनाने में फैट टिश्यू का उपयोग किया जा सकता है। इससे महज 12 दिनो को प्रक्रिया में प्लेटलेट्स को तैयार किया जा सकता है। शोधकर्ताओं ने यह भी सत्यापित किया है की प्रयोगशाला में तैयार किये गए प्लेटलेट्स प्राकृतिक प्लेटलेट्स की तरह सतह पर प्रोटीन और ग्रेन्यूल पाए गए है। ग्रेन्यूल खून को ज़माने की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

दक्षता फाउंडेशन ने आयोजित किया शिविर

दक्षता फाउंडेशन ने आयोजित किया शिविर

एस.जी.एम. नगर स्थित ज्ञान डीप पब्लिक स्कूल में दक्षता फाउंडेशन द्वारा निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया शिविर के आयोजन में फाउंडेशन में कार्ययत फार्मासिस्टों का रचनात्मक सहयोग रहा इस अवसर पर मुख्य अतिथि बीजेपी विधायिका सीमा त्रिखा रहीं व विशिष्ट अतिथि के रूप में सामाजिक कार्यकर्ता देव सिंग गोसाई, दत्ता ,श्रीकांत रहें।शिविर में एसोसिएट सदस्य समाजिक कार्यकर्ता मोनिका शर्मा व राजेश वशिष्ठ प्रेसिडेंट एस. एस. एफ रहें।

अब भिवानी में होगा एड्स पीड़ितों का उपचार विश्व एड्स दिवस पर हुए शुरुवात

अब भिवानी में होगा एड्स पीड़ितों का उपचार विश्व एड्स दिवस पर हुए शुरुवात

एच आई वी एड़स के पॉजिटिव मरीजों को रोहतक जाने की बजाय अब चौ. बंसीलाल अस्पताल में इलाज मिलेगा। शनिवार को एच आई एंव एड़स निदेशक डा. वीना सिंह ने विधिवत एफ आई ए आर टीे सैटर उदघाटन किया। अब एडस के पॉजिटिव मरीजो को रोहतक जाने की जरुरत नही है। सोमवार से उन्हें सामान्य अस्पताल में इलाज शुरु हो जाएगा।

आखिर कैसे लगाम लग पायेगी राष्ट्रीय राजधानी की अवैध पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं पर दिल्ली हाईकोर्ट ने किया जवाब तलब

आखिर कैसे लगाम लग पायेगी राष्ट्रीय राजधानी की अवैध पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं पर दिल्ली हाईकोर्ट ने किया जवाब तलब

उच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय राजधानी में अवैध तरीके से चल रही पैथोलॉजी प्रयोगशालाओं को लेकर दिल्ली सरकार को फटकार लगाई है। उच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को तलब कर 17 दिसंबर को अदालत में पेश होने के निर्देश दिए है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने पूछा है की दिल्ली सरकार ने ऐसी प्रयोगशालाओं पर अंकुश लगाने के लिए कारवाही क्यों नहीं की।