BREAKING NEWS:
  • Friday, 17 Aug, 2018
  • 9:36:13 AM

Responses

Related News

PRIME MINISTER OF INDIA IS NOW ICON OF THE WORLD

PRIME MINISTER OF INDIA IS NOW ICON OF THE WORLD

Every government has merit and demerit but we remember demerits only and curse quite often. It happens because we never change our specs, we should comment to become neutral and should imagine whether decision was in favour of country or not. We are now 6th largest economy in the world. Noteworthy, we are super power in medicine manufacturing and medicine export. We export 20% of global demand and Indian Pharmaceutical Industry is the pharmacy of the world.

पिता से 10 हजार रुपए उधार लेकर शुरू की थी कंपनी, अब हैं

पिता से 10 हजार रुपए उधार लेकर शुरू की थी कंपनी, अब हैं 'फार्मा किंग'

1955 में मुंबई में जन्मे दिलीप संघवी को घाटे में चल रही कंपनियों को खरीदकर उनकी काया पलटने के लिए जाना जाता है. दिलीप संघवी हमेशा कंपनी को सस्ते में खरीदने में विश्वास रखते हैं. कंपनी ने पहला सौदा 1987 में किया. लंबी सौदेबाजी के बाद अमेरिका की कैरको फार्मा दिलीप संघवी की पहली बड़ी खरीद थी. ये सौदा 5 करोड़ डॉलर में हुआ. इसके बाद दिलीप संघवी ने अमेरिका में ही दो और कंपनियों वैलिएंट और एबल फार्मा को खरीदा. घाटे में चल रही इन फार्मा कंपनियों की आज सन फार्मा की आमदनी में बड़ी हिस्सेदारी है.